Uncategorized

दुनिया का पहला देश जहां पीएम मोदी का अपमान व विरोध करने पर होगा जेल, जारी किया गया नोटिस

 

डेस्क: भारत देश में बोलने की आजादी के मौलिक अधिकार के अंतर्गत देश की कुछ जनता प्रधानमंत्री तक का सम्मान नहीं करती है। कई लोग प्रधानमंत्री का पुतला जलाते हैं तो कई लोग उनके प्रति निंदनीय और अपमानजनक शब्दों का प्रयोग करते हैं। ऐसा कहा जा सकता है कि भारत के प्रधानमंत्री की इज्जत भारत में ही नहीं की जाती है।

नेपाल ने लिया ऐतिहासिक फैसला

जबकि नेपाल में 5 सितंबर 2021 के दिन गृह मंत्रालय से एक बयान जारी किया गया जिसमें कहा गया कि पिछले कुछ समय से भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को धूमिल करने की कोशिश की जा रही है। नेपाल के गृह मंत्रालय ने यह फैसला लिया है कि भारत के प्रधानमंत्री मोदी का विरोध करने अथवा उनकी छवि को धूमिल करने के लिए नारेबाजी अथवा प्रदर्शन करने पर आरोपी को जेल भेजा जा सकता है।

मित्र देशों के सम्मान को नुकसान पहुंचाने पर मिलेगी सजा

बता दें कि कुछ समय पहले ही नेपाल में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को धूमिल करने के लिए नारेबाजी और प्रदर्शन की घटना सामने आई है। प्रदर्शन के दौरान वहां प्रधानमंत्री मोदी के पुतले को भी जलाया गया था। जिसके बाद नेपाल के गृह मंत्रालय ने सख्त होकर यह फैसला लिया कि वहां का कोई भी नागरिक यदि मित्र देशों के सम्मान को नुकसान पहुंचाने वाला कोई भी निंदनीय और अपमानजनक कार्य करता है तो उसे दंड दिया जाएगा।

पीएम मोदी की लोकप्रियता सबसे अधिक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया के सभी नेताओं को पीछे छोड़ते हुए विश्व के लोकप्रिय नेताओं के लिस्ट में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। जबकि मेक्सिको के राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओब्राडोर दूसरे स्थान पर हैं। वहीं इटली के प्रधानमंत्री मारियो ड्रैगी को इस सूची में तीसरा स्थान मिला है। जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल चौथे स्थान पर हैं और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन पांचवें स्थान पर हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button