Uncategorized

टोक्यो पैरालंपिक के एक ही खेल के स्वर्ण व रजत पदकों पर भारत की दावेदारी, रच दिया इतिहास

 

डेस्क: टोक्यो पैरालंपिक 2020 में 50 मीटर मिक्सड पिस्टल (SH1) के फाइनल मुकाबले में भारतीय खिलाड़ी मनीष नरवाल ने गोल्ड जीता जबकि इसमें सिंहराज अधाना ने सिल्वर जीता। एक ही दिन में एक ही खेल में दो भारतीय खिलाड़ियों ने पदक जीतकर इतिहास रच दिया। इसी के साथ अब टोक्यो ओलंपिक में भारत ने कुल तीन स्वर्ण पदक जीत लिया है।

मनीष नरवाल ने किया 218.2 स्कोर

फाइनल मुकाबले में मनीष नरवाल ने 218.2 अंक प्राप्त किए। इसी के साथ उन्होंने गोल्ड मेडल के लिए अपनी दावेदारी पक्की की। वही सिंहराज अधाना ने 216.7 अंकों के साथ टोक्यो पैरालंपिक में सिल्वर मेडल जीता। रूसी पैरालंपिक समिति के सर्गेई मालिशेव ने कांस्य पदक जीता।

फुटबॉलर बनने की थी मनीष की इच्छा

बचपन से ही मनीष नरवाल एक एथलीट बनना चाहते थे। उनका सपना एक फुटबॉलर बनने का था। लेकिन शारीरिक चुनौतियों के कारण यह संभव नहीं था। अतः उनके पिता और अन्य सहयोगियों ने उन्हें शूटिंग में करियर बनाने का सुझाव दिया। 2016 में मनीष नरवाल ने शूटिंग को करियर के तौर पर चुना और हरियाणा के फरीदाबाद में शूटिंग करनी शुरू कर दी।

Manish-Narwal-won-gold-in-tokyo-Paralympics

कभी पीछे पलट कर नहीं देखा

अपने दृढ़ लगन और कड़ी मेहनत के बदौलत आज तक कभी भी मनीष नरवाल को पीछे पलट कर देखने की जरूरत नहीं हुई। उन्होंने कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में जीत हासिल कर ऊंचाइयों को छुआ है। खेलों में उनके शानदार प्रदर्शन के कारण साल 2020 में भारत सरकार ने उन्हें अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया था।

जीत चुके हैं कई मेडल

टोक्यो पैरालंपिक 2020 में गोल्ड मेडल जीतने के अलावा 19 वर्षीय मनीष नरवाल कई अन्य राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय खेलों में भी गोल्ड, सिल्वर व ब्रोंज मेडल जीत चुके हैं। 2018 में जकार्ता में हुए एशियाई खेलों में भी उन्होंने एक गोल्ड और एक ब्रोंज मेडल जीता था। अभी तो यह केवल उनके करियर की शुरुआत ही है आगे उन्हें कई और मेडल भी जीतने हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button