National

यूपी के सांसद पर दु’ष्क’र्म का आरोप लगानेवाली युवती के दोस्त संग सुप्रीम कोर्ट के सामने आ’त्म’दा’ह का मामला, दो पुलिसकर्मी सस्पेंड

डेस्क: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के घोसी सीट से सांसद अतुल राय पर दु’ष्क’र्म का आरोप लगानेवाली युवती और उसके साथी द्वारा दिल्ली में उच्चतम न्यायालय के सामने आ’त्म’दा’ह की कोशिश के मामले में वाराणसी के दो पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. पुलिस की ओर से जारी एक बयान में बताया गया कि इस मामले में कैंट थाना प्रभारी राकेश सिंह और विवेचक गिरिजा शंकर को निलंबित कर दिया गया है.

बलिया की युवती ने 2019 में बसपा सांसद पर लगाया था दु’ष्क’र्म का आरोप

उत्तर प्रदेश के बलिया की रहनेवाली युवती ने 2019 में बसपा सांसद अतुल राय पर दु’ष्क’र्म का आरोप लगाते हुए वाराणसी के लंका थाने में मुकदमा दर्ज कराया था. पीड़िता का आरोप था कि अतुल राय ने अपने लंका स्थित फ्लैट पर उससे दु’ष्क’र्म किया और उसका वीडियो भी बना लिया. इस मामले में सांसद अतुल राय जेल में बंद हैं.

आरोपी के भाई ने युवती पर लगाया हनी ट्रैप और जालसाजी का आरोप

सांसद के भाई पवन कुमार सिंह ने मख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में युवती और उसके साथी सत्यम राय के खिलाफ गिरोह बनाकर हनी ट्रैप और जालसाजी करने की शिकायत की थी. पवन का आरोप था कि दोनों मिल कर राजनीति से जुड़े लोगों को अपने जाल में फंसाते हैं और पैसों की वसूली करते हैं. अदालत ने कैंट पुलिस को युवती और उसके सहयोगी पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने का निर्देश दिया.

निर्देश के मुताबिक इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर गिरफ्तारी के लिए दबिश देनी शुरू की, लेकिन दोनों आरोपी फरार हो गये. गिरफ्तारी न हो पाने पर अदालत ने उन्हें भगोड़ा घोषित कर उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया. इस पर पीड़िता और उसके साथी ने उच्चतम न्यायालय के सामने आ’त्म’दा’ह करने की कोशिश की.

आत्महाद के पूर्व किया फेसबुक लाइव

आत्मदाह के पूर्व पीड़िता ने फेसबुक लाइव पर आकर वाराणसी के पूर्व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक, कोतवाल राकेश सिंह, विवेचक गिरिजा शंकर सहित कई अधिकारियों पर आरोप लगाया था. आ’त्म’दा’ह की कोशिश में 27 वर्षीय युवक 65 प्रतिशत, जबकि 24 वर्षीय युवती 85 प्रतिशत तक झुलस गई थी. दोनों में से कोई भी पुलिस को बयान देने की स्थिति में नहीं हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button